आखिर क्यों 5 साल की उम्र में ही शुरू करना पड़ा अपना करियर, लता मंगेशकर के बचपन से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

सुरों की रानी लता मंगेश्कर जी हमारे बीच नही रही अब हमारे बीच कुछ है तो वो है उनकी यादें और और उनकी वह गीते जिसके लिए वह प्रसिद्ध है ।लता मंगेश्कर जी का जन्म बेहद मध्यमवर्गीय परिवार में हुआ था लेकिन उनके सपने बेहद बड़े थे वह अपने ख्वाबो को हकीकत में बदलने के लिए ही जन्मी थी ।अपनी सुरों की सीख उन्हें विरासत में ही मिली थी क्योंकि उनके पिता श्री दीनानाथ मंगेशकर जी एक मराठी गायक थे इसके अलावे वह शास्त्रीय संगीत के भी महारथी थे इसलिए संगीत की जानकारी लता जी को बचपन में ही मिल गयी थी।

महज पांच वर्ष की उम्र से की लता जी ने की शुरुआत अपने करियर की

जब किसी को कुछ पाना होता है तो उसके लिए कोई भी बाधा मायने नही रखती कुछ ऐसा ही हुआ लता मंगेश्कर जी के साथ लता मंगेश्कर जी तो शुरू से ही अपने पिताजी के देख रेख में बड़ी हुई इसलिए संगीत में उनकी रुचि बढ़ती गयी और समझदार तो वो इतनी थी कि सिर्फ पांच साल की होने और ही स्टेज के पीछे से गाना गाने लगी थी यह उनकी प्रतिभा को दर्शाता है कि माँ सरस्वती स्वय ही उनमे विराजमान थी इसलिए तो जिस उम्र में बच्चे गुड़ियों और खिलौने से खेलते है उस उम्र में लता जी घर की जिम्मेदारी संभाल रही थी

महज 13 वर्ष की उम्र में मजबूरी में करना पड़ा था काम

लता जी का बचपन का जीवन बेहद संघर्षमय रहा सबसे पहले तो वह मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मी लेकिन उनका असली संघर्ष तब शुरू हुआ जब महज 13 वर्ष की उम्र में उनके पिता का देहांत हो गया जिससे उनके 4 छोटे भाई बहनों की जिम्मेदारी उन पर आ गयी।लता जी को कभी भी फिल्मो या नाटकों में अभिनय करने का शौक नही था लेकिन घर के खर्चे चलाने के लिए वह गानो के साथ कुछ मराठी नाटकों और फिल्मो में अभिनय भी करने लगी थी।

सजने सवरने का नही था शौक इसलिए नही करना चाहती थी अभिनय

कम उम्र में ही लता जी परिपक्व से पूर्ण हो गयी थी शायद ऐसा जिम्मेवारियों के वजह से हुआ था चूंकि वो बचपन से अभिनय क्षेत्र से जुड़ी थी लेकिन उसके बाद भी उन्हें सजने सवरने का कोई शौक नही था यही वजह रही कि वह अभिनय करने से कतराती नजर आती थी अपनी कई इंटरव्यू में भी उन्होंने खुलासा किया कि उन्हें नाखून रंगना या लिपस्टिक लगाना ये सब कभी पसन्द नही उन्हें बस सादगी से प्रेम हैं।ऐसी सादगी में ही उन्होंने अपना सम्पूर्ण जीवन गुजार दिया ।

Gyan Sankhya Google News Publication

About Shubham Tiwari

Shubham Tiwari is the Founder and editor of Gyan Sankhya. Having more than 5+ years of experience in Bollywood News writing covering all the biggest happenings of The B-Town.